1972 India-Pakistan War Hero Lt General Raj Mohan Vohra Dies Of Coronavirus | 1971 भारत-पाकिस्तान युद्ध के हीरो रहे लेफ्टिनेंट जनरल राज मोहन वर्मा की कोरोना से मौत, वीरता का दूसरा सर्वोच्च पुरस्कार महावीर चक्र मिला था


  • मंगलवार को सेना की तरफ से सूचना जारी की गई, रविवार को हो चुका है अंतिम संस्कार
  • स्टंट की सर्जरी के लिए अस्पताल में भर्ती हुए थे, इलाज के दौरान ही कोरोना संक्रमित पाए गए थे

newsjojo

Jun 16, 2020, 10:21 PM IST

नई दिल्ली. 1971 भारत-पाकिस्तान युद्ध के नायक रहे वीर चक्र विजेता लेफ्टिनेंट जनरल (रिटायर्ड) राज मोहन वर्मा का कोरोना संक्रमण के चलते रविवार 14 जून को निधन हो गया। सेना ने मंगलवार को यह सूचना जारी की। 88 साल के लेफ्टिनेंट जनरल वोहरा स्टेंट की सर्जरी के लिए अस्पताल में भर्ती हुए थे। जहां उन्हें कोरोना पॉजिटिव पाया गया। 
एक अधिकारी ने बताया कि रविवार को ही उनका अंतिम संस्कार भी कर दिया गया। लेफ्टिनेंट जनरल वोहरा को 1971 युद्ध में अदम्य साहस दिखाने और शानदार नेतृत्व के लिए 1972 में महावीर चक्र से सम्मानित किया गया था। यह देश का दूसरा सर्वोच्च वीरता पुरस्कार है। 

दुश्मन के 27 टैंकर को ध्वस्त कर दिया था
लेफ्टिनेंट वोहरा की अगुवाई में सेना के जवानों ने पाकिस्तान के 27 टैंकर को धवस्त कर दिया था। उस समय पाकिस्तान की तरफ से भारी गोलाबारी हो रही थी। ऐसे वक्त में लेफ्टिनेंट वोहरा की अगुवाई में जवानों ने जान पर खेलकर दुश्मन के हथियारों को नष्ट कर दिखाया था।  

कई महत्वपूर्ण पदों पर रह चुके हैं वोहरा
लेफ्टिनेंट वोहरा सेना के कई महत्वपूर्ण पदों पर रह चुके हैं। अपने लंबे कॅरियर में उन्होंने जीओसी इन सी ईस्टर्न कमांड, जीओसी 31 आर्मर्ड डिविजन जैसे पदों की जिम्मेदारी बखूबी निभाई। 

शिमला में हुआ था जन्म
लेफ्टिनेंट वोहरा का जन्म 1932 में शिमला में हुआ था। उन्होंने नेशनल डिफेंस एकेडमी से अपनी ट्रेनिंग पूरी की थी। 1952 में वह 14 हॉर्स कमिशन में तैनात हुए। 



Source link