Administration ran a bulldozer at night, sabotage to make way to the agricultural defense unit, uproar in protest | प्रशासन ने रात में चलाया बुलडोजर, कृषि रक्षा इकाई तक रास्ता बनाने को तोड़फोड़, विरोध में हंगामा


मुरादाबादएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
बाउंड्री बनवाने की कही बात। - Dainik Bhaskar

बाउंड्री बनवाने की कही बात।

  • अंबेडकर जनकल्याण समिति ने कहा, एसडीएम और लेखपाल पर कराएंगे मुकदमा
  • एसडीएम बोले, सरकारी जमीन थी पार्क में उसे वापस लिया, बिल्डर की बाउंड्री भी तोड़ी
  • समिति ने कहा, कोई पूर्व सूचना नहीं दी, एसडीएम बोले सभी से बन चुकी थी सहमति

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में दिल्ली रोड पर मझोला थाने के पास स्थित अंबेडकर पार्क की बाउंड्री पर गुरुवार रात करीब साढ़े सात बजे प्रशासन ने बुलडोजर चलवा दिया। अंबेडकर पार्क में बने एक कमरे का कुछ हिस्सा भी टूटा है। इसके विरोध में डॉ. अंबेडकर जनकल्याण समिति के लोगों ने हंगामा किया। प्रशासन ने यह तोड़फोड़ पार्क के पीछे बनने जा रही कृषि रक्षा इकाई तक रास्ता बनाने के लिए की है

दिल्ली हाईवे पर मझोला थाने से चंद कदमों की दूरी पर अंबेडकर पार्क है। शहर से सटा यह इलाका मनोहरपुर ग्राम सभा में आता है। गुरुवार को शाम करीब साढ़े छह बजे एसडीएम सदर प्रशांत तिवारी तहसील और पुलिस की टीम के साथ यहां पहुंचे और पार्क की बाउंड्री गिराने के निर्देश दिए। बाउंड्री पर बुलडोजर लगता देख अंबेडकर समिति के पदाधिकारी मौके पर आ गए। उन्होंने इस कार्रवाई का विरोध किया। विरोध के बीच पुलिस की मदद से बाउंड्री को रात करीब साढ़े सात बजे गिरा दिया गया।

एसडीएम – लेखपाल पर मुकदमा करेंगे
अम्बेडकर जनकल्याण समिति के महासचिव एडवोकेट तारा सिंह का कहना है कि अंबेडकर पार्क की कागजों में 2050 वर्ग मीटर भूमि है। पार्क उतनी ही भूमि में बना है। बाउंड्री और पार्क में बना कमरा तोड़ने से पहले प्रशासन ने उन्हें कोई नोटिस भी नहीं दिया। उन्होंने कहा कि इस इकतरफा कार्रवाई के खिलाफ समिति एसडीएम प्रशांत तिवारी और लेखपाल तहजीब आलम के खिलाफ केस करेगी।

सरकारी जमीन ली है, बाउंड्री बनाकर देंगे : एसडीएम
एसडीएम सदर प्रशांत तिवारी का कहना है कि अंबेडकर पार्क और उसके पास बनी एक बिल्डर की बाउंड्री में सरकारी भूमि है। पार्क के पीछे कृषि रक्षा इकाई तक पहुंचने के लिए आठ मीटर चौड़ा रास्ता बनाया जाना है। इसके लिए तीन मीटर भूमि अंबेडकर पार्क से ली गई है। जबकि बाकी भूमि बिल्डर की बाउंड्री तोड़कर ली गई है। एसडीएम ने कहा कि लोगों का विराेध और हंगामा गलत है। उन्होंने कहा कि पहले ही ग्रामीणों से सहमित हो गई थी। उसके बावजूद कुछ लोगों ने हंगामा किया। एसडीएम ने कहा कि तीन मीटर चौड़ाई तक भूमि लेने के बाद प्रशासन दो दिन के भीतर पार्क की बाउंड्री को पूर्व की तरह बनवाकर देगा।

खबरें और भी हैं…



Source link