Bholenath will make a waterfall in Kedarnath, since three days the rain started, devotees will reach on the first Monday of Sawan | केदारनाथ में झरना करेगा भोलेनाथ का श्रृंगार, तीन दिन से हो रही बारिश से झरना हुआ शुरू, सावन के पहले सोमवार को पहुंचेंगे श्रद्धालु


  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Guna
  • Bholenath Will Make A Waterfall In Kedarnath, Since Three Days The Rain Started, Devotees Will Reach On The First Monday Of Sawan

गुना29 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

तीन दिन की बारिश के बाद केदारनाथ का झरना हुआ शुरू

गुना। श्रावण मास के पहले दिन बादल जमकर बरसे। लगातार हो रही बारिश से जिले के सबसे प्रसिद्द शिव मंदिर केदारनाथ धाम पर झरना बह निकला। सावन के दिनों में यहाँ बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुँचते हैं। कल सावन का पहला सोमवार पद रहा है। ऐसे में झरने के कारण यहाँ का दृश्य मनमोहक हो गया है। सोमवार को बड़ी संख्या में यहाँ श्रद्धालुओं के पहुँचने की संभावना है। बारिश के इस सीजन में पहली बार झरना शुरू हुआ।

सावन महीने का पहला सोमवार 26 जुलाई को पड़ेगा। इस मौके पर शिवालयों में विशेष पूजा अर्चना के साथ रूद्राभिेषक होगा। श्रद्धालु इस दिन उपवास रखेंगे। मान्यता है कि सावन के सभी सोमवार को व्रत रखना विशेष फलदायी होता है। इस साल कुल चार सावन सोमवार पड़ेंगे। सावन का महीना रविवार से शुरू होकर रविवार को ही समाप्त हो रहा है। जिले के प्रमुख शिव स्थलों में केदारनाथ धाम, गादेर गुफा, मुहालपुर गुफा, बागबाघेश्वर सहित अन्य प्राचीन शिव स्थल है। यहां गुना ही नहीं बल्कि आसपास के क्षेत्र में शिव भक्तों की आस्था के प्रमुख केंद्र हैं। । इसके अलावा शहर के मुख्य शिव मंदिरों में जिला अस्पताल परिसर स्थित शिव मंदिर, हनुमान चौराहा मंदिर, जाटपुरा शिव मंदिर आदि हैं।

अंचल में लगातार मानसून सक्रिय बना हुआ है। रविवार को सुबह-सुबह रिमझिम बारिश का दौर चला तो दिनभर आसमान में बादलों ने डेरा जमाए रखा। शाम 6 बजे के करीब आधे घंटे से अधिक समय तक झमाझम बारिश से सड़कें तर-बतर हो गई। ग्रामीण इलाकों में रिमझिम तो कभी झमाझम बारिश का दौर जारी है। लगातार हो रही बारिश से अंचल में उमसभरी गर्मी से बेहाल लोगों को थोड़ी राहत मिल गई।

मौसम विभाग के अनुसार अधिकतम तापमान 30.7 व न्यूनतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। इधर विगत दिवस झागर कस्बे में स्थानीय नदी ऊफान पर आ गई। जिसमें नदी पार कर रहे तीन मवेशियों का बहाने का वीडियो सामने आया। हालांकि यह मवेशी कुछ दूरी तक बहने के बाद किनारे से लग गए। बारिश के बाद जिलेभर के प्रमुख धार्मिक एवं पयर्टन क्षेत्रों में प्राकृतिक सौंदर्य निखरने लगा है। बमोरी अंचल का केदारनाथ धाम पर प्राकृतिक झरने बहने से पर्यटकों का भीड़ बढऩे लगी है। इसके अलावा रविवार को सुहाने मौसम में लोग शहर के निकटवर्ती गादेर गुफा और गोपीकृष्ण सागर बांध पहुंचे।

खबरें और भी हैं…



Source link