Children study in the National Park by going 12 km away every day, because mobile network is not available in their areas. | रोज 12 किमी दूर जाकर नेशनल पार्क में पढ़ते हैं बच्चे, क्योंकि इनके इलाकों में मोबाइल नेटवर्क नहीं मिलता


  • Hindi News
  • National
  • Children Study In The National Park By Going 12 Km Away Every Day, Because Mobile Network Is Not Available In Their Areas.

22 मिनट पहलेलेखक: केए शाजी

  • कॉपी लिंक
एराविकुलम नेशनल पार्क में सड़क किनारे ऑनलाइन क्लास से पढ़ते बच्चे। - Dainik Bhaskar

एराविकुलम नेशनल पार्क में सड़क किनारे ऑनलाइन क्लास से पढ़ते बच्चे।

  • केरल के इडुक्की जिले के चाय बागानों वाले इलाकों में दो हजार से ज्यादा बच्चे परेशान

केरल के इडुक्की जिले के दूरदराज के इलाकों में बच्चों को लंबा संघर्ष करना पड़ रहा है। मुन्नार में कानन हिल्स चाय बागानों के राजमाला एस्टेट डिवीजन में मोबाइल नेटवर्क ही नहीं होता है, ऐसे में बच्चे मोबाइल नेटवर्क के लिए रोज 12 किमी का सफर तय कर एराविकुलम नेशनल पार्क पहुंचते हैं। वहां नेटवर्क वाली जगह पर पहुंचकर ही इनकी पढ़ाई हो पाती है।

ये बच्चे पिछले साल जून से इस तरह ऑनलाइन क्लास कर रहे हैं। आदिमाली गवर्नमेंट हायर सेकंडरी स्कूल की प्लस-वन की अपर्णा आर कहती हैं कि वह ऑनलाइन क्लास के लिए रोज पार्क में जाती है क्योंकि उसकी चाय बागान कॉलोनी में नेटवर्क नहीं मिलता है। नेशनल पार्क के सहायक वन्यजीव वार्डन जे नेरियाम्परम्पिल कहते हैं कि पार्क में सड़क किनारे मोबाइल के साथ बैठे बच्चों का नजारा कई महीनों से देख रहा हूं। पार्क में भी एक ही जगह पर उचित नेटवर्क मिलता है। मुन्नार पुलिस उप निरीक्षक टीएम सूफी ने कहा कि पहाड़ी जिले इडुक्की के कई इलाकों में नेटवर्क की कमी है।

सर्व शिक्षा अभियान के जिला कार्यक्रम अधिकारी बिंदुमोल डी कहते हैं कि वे उन छात्रों का डेटा जुटा रहे हैं, जिनकी ऑनलाइन शिक्षा तक पहुंच नहीं है। प्रारंभिक आंकड़ों के अनुसार, ऐसे बच्चों की संख्या 2,015 है। इडुक्की कलेक्टर एच दिनशान ने कहा कि दो हफ्ते में राजमाला में नेटवर्क कनेक्शन सुनिश्चित किया जाएगा। निजी कंपनी जल्द मोबाइल टावर लगाएगी। कंपनी ने 30 जून तक का समय मांगा है।

खबरें और भी हैं…



Source link