Himachal accident; Amogh Bapat and Satish Katkwar of Chhattisgarh died, recently became Navy officer | कोरबा के अमोघ बापट और सतीश कटकवार भू-स्खलन के समय पुल से गुजर रहे थे, हाल ही में नौसेना के अफसर बने थे अमोघ


रायपुर17 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

लगातार कई मिनट तक चट्‌टान और बोल्डर सड़क और पुल पर गिरते रहे। एक बड़ा बोल्डर गिरते ही पुल बीच से टूट गया।

हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले में भू-स्खलन से हुए हादसे में छत्तीसगढ़ के अमोघ बापट और सतीश कटकवार की जान चली गई है। कोरबा निवासी अमोघ हाल ही में भारतीय नौ सेना में अफसर बने थे। इस हादसे में 9 पर्यटकों की जान गई हैं। जिसमें 4 राजस्थान के, दो छत्तीसगढ़ के और एक-एक महाराष्ट्र और पश्चिम दिल्ली के हैं। एक पर्यटक की पहचान नहीं हो पाई है।

मृतकों और घायलों की पहचान के बाद किन्नौर प्रशासन ने संबंधित राज्य सरकारों को इसकी सूचना दे दी है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बताया, किन्नौर की सांगला घाटी में पुल टूटने के दुखद हादसे में जिन नौ लोगों की मौत हुई है, उनमें से दो लोग छत्तीसगढ़ के हैं। मृतकों में से एक कोरबा में CSEB के अधिकारी के बेटे अमोघ बापट हैं‌। दूसरे सतीश कटकबार हैं। अमोघ बापट नौसेना के नव नियुक्त अधिकारी थे। मुख्यमंत्री ने बताया, उन्होंने मृतकों के छत्तीसगढ़ में अंतिम संस्कार के लिए प्रशासन की ओर से मदद करने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने मृतकों के परिजनों के लिए संवेदना प्रकट की है।

पुल से गुजर रहे थे पर्यटक, बोल्डर गिरा
आज दोपहर करीब 1.30 बजे पर्यटक ट्रैवलर गाड़ी में छितकुल से सांगला की ओर जा रहे थे। तभी बटसेरी के गुंसा के पास पुल पर चट्‌टानें गिरने से पुल टूट गया और पर्यटकों की गाड़ी बस्पा नदी में जा गिरी। हादसे के बाद चीखने-चिल्लाने की आवाजें सुनकर बटसेरी गांव के लोग मौके पर पहुंचे और बचाव कार्य में जुट गए। ग्रामीणों ने ही हादसे की खबर पुलिस और प्रशासन को दी थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हादसे में जान गंवाने वालों के परिवार को 2 लाख और घायलों को 50 हजार रुपए पीएम केयर फंड से दिए जाने की घोषणा की है।

खबरें और भी हैं…



Source link