Mahua MLA Omprakash Hudla will get Y category security, he wrote letter to CM ashok Gehlot after attack his hotel six days ago | निर्दलीय विधायक ओमप्रकाश हुड़ला को मिलेगी Y श्रेणी की सुरक्षा, छह दिन पहले होटल में तोड़फोड़ के बाद सीएम गहलोत को लिखा था पत्र


  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Mahua MLA Omprakash Hudla Will Get Y Category Security, He Wrote Letter To CM Ashok Gehlot After Attack His Hotel Six Days Ago

जयपुर/दौसा3 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
वाई श्रेणी की सुरक्षा मिलने के बाद सुरक्षा में तैनात रहने वाले पुलिसकर्मियों ने विधायक ओमप्रकाश हुड़ला को सलामी दी। - Dainik Bhaskar

वाई श्रेणी की सुरक्षा मिलने के बाद सुरक्षा में तैनात रहने वाले पुलिसकर्मियों ने विधायक ओमप्रकाश हुड़ला को सलामी दी।

दौसा जिले के महवा विधानसभा क्षेत्र से निर्दलीय विधायक ओमप्रकाश हुड़ला को राजस्थान सरकार अब Y श्रेणी की सुरक्षा उपलब्ध करवाएगी। गृह विभाग ने रविवार को आदेश जारी किए। इसके बाद सुरक्षा में तैनात होने वाले पुलिसकर्मियों ने विधायक ओमप्रकाश के घर पहुंचकर सलामी दी।

गहलोत सरकार के इस निर्णय को पायलट गुट से चल रही राजनीतिक खींचतान के लिहाज से भी अहम माना जा रहा है। पिछली बार पायलट गुट की बगावत के बाद निर्दलीय विधायक ओमप्रकाश हुड़ला भी राज्य से बाहर चले गए थे। ऐसे में हुड़ला के पायलट गुट को समर्थन देने की बात सामने आई थी। हुड़ला पहले भाजपा में थे। विधानसभा चुनाव में किरोड़ीलाल से मनमुटाव के बाद ओमप्रकाश हुड़ला ने निर्दलीय होकर भाजपा प्रत्याशी के खिलाफ चुनाव लड़ा था और जीत हासिल की थी।

छह दिन पहले दौसा में होटल पर हुआ था पथराव

आपको बता दें कि दौसा शहर में जयपुर रोड पर मंसूरी पेट्रोल पंप के सामने स्थित विधायक ओमप्रकाश हुड़ला की होटल हुड़ला पार्क पर पिछले रविवार रात 12:24 बजे एक कार में सवार होकर आए अज्ञात बदमाशों ने पथराव कर दिया था। इसके बाद विधायक हुड़ला ने सीएम अशोक गहलोत को पत्र लिखकर खुद की जान को खतरा बताते हुए अतिरिक्त सुरक्षा बढ़ाने की गुहार लगाई थी। इसके बाद छह दिन के भीतर गहलोत सरकार ने विधायक ओमप्रकाश को वाई श्रेणी की सुरक्षा उपलब्ध करवाने के लिए हरी झंडी दे दी।

यह होती है Y श्रेणी की सुरक्षा
इसमें वो वीआईपी लोग आते हैं। जिनकी जान को खतरा होने का अंदेशा होता है। उनकी सुरक्षा के लिए सरकार संबंधित वीआईपी को सुरक्षा के लिए 11 सुरक्षाकर्मी मिले होते हैं। इनमें 1 या 2 कमांडो और 2 पीएसओ भी शामिल होते हैं।

खबरें और भी हैं…



Source link