Minister Subhash Garg took a jibe at the MLAs supporting Sachin Pilot and tweeted – this is the season, birds are eager to change the nest | मंत्री सुभाष गर्ग ने सचिन पायलट समर्थक विधायकों पर तंज कसते हुए किया ट्वीट- ये मौसम ही है ऐसा,परिंदे आतुर हैं घोंसला बदलने के लिए


  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Minister Subhash Garg Took A Jibe At The MLAs Supporting Sachin Pilot And Tweeted – This Is The Season, Birds Are Eager To Change The Nest

जयपुर16 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
तकनीकी शिक्षा राज्य मंत्री सुभाष गर्ग (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar

तकनीकी शिक्षा राज्य मंत्री सुभाष गर्ग (फाइल फोटो)

कांग्रेस में सचिन पायलट और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत खेमों के बीच अब लड़ाई खुलकर सामने आ गई है। गहलोत सरकार में आरएलडी कोटे से मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने नाम लिए बिना सचिन पायलट कैंप पर निशाना साधा है। सुभाष गर्ग ने इशारों में ही पायलट खेमे पर दल बदल की कोशिशों तक का आरापे लगा दिया है। सुभाष गर्ग ने देर रात ट्वीट कर लिखा— ये मौसम ही है ऐसा,आतुर हैं परिंदे ,घोंसले बदलने के लिए। पायलट खेमे पर किए गए इस कटाक्ष को भरतपुर जिले के ही एक और मंत्री भजनलाल जाटव सहित कई कांग्रेस नेताओं ने लाइक किया है।

सुभाष गर्ग के इस ट्वीट को पायलट समर्थक विधायक वेद प्रकाश सोलंकी के आरोपों का जवाब माना जा रहा है। वेद प्रकाश सोलंकी ने सुभाष गर्ग का नाम लेकर आरोप लगाया था कि पहली बार के विधायक होने के बाद भी मंत्री बनाए गए सुभाष गर्ग सरकार की नौ कमेटियों में हैं जबकि टीकाराम जूली और भजनलाल जाटव जैसे मंत्री बाहर हैं।सोलंकी ने गर्ग पर यह आराेप भी लगाया था कि इस सरकार में एससी, एसटी समुदाय के खिलाफ जितने फैसले हुए हैं, उनमें सुभाष गर्ग मिले हुए हैं। चाहे अंबेडकर पीठ का मामला हो या एससी-एसटी के बैकलॉग का मामला हो, मुख्यमंत्री से गलत फैसले करवाने में मंत्री गर्ग का ही हाथ रहा है।

अब तक चुप बैठे गर्ग ने चुप्पी तोड़ी, इसके भी सियासी मायने
पायलट समर्थक विधायक वेदप्रकाश सोलंकी सुभाष गर्ग पर पिछले काफी समय से आरोप लगा रहे थे लेकिन गर्ग चुप थे। रविवार देर रात सुभाष गर्ग ने अचानक ट्वीट कर बिना नाम लिए पायलट खेमे को निशाने पर ले लिया। सुभाष गर्ग का अचानक चुप्पी तोड़ना भी चौंकाने वाला है। राजनीतिक जानकारों के मुताबिक यह भी संभव है कि उन्हें जवाब देने का इशारा हुआ हो और उन्होंने फिर इशारों में पायलट खेमे पर कटाक्ष किया हो।

ट्वीट के बाद गर्ग भास्कर से बोले- मेरे लॉन में आए परींदों को देख मैंने लिखा,बाकी आप मतलब निकालने के लिए स्वतंत्र
सुभाष गर्ग से जब ट्वीट के सियासी मायनों के बारे में पूछा गया तो भास्कर से कहा- मेरे यहां लॉन अच्छा है, आज मैं लॉन में बैठा था तो बहुत से परिंदे आ गए। गर्मी और बारिश के बीच का यह मौसम ऐसा होता है कि इसमें परिंदे कुछ अलग मिजाज में रहते हैं। मैंने उन परिंदों के के मिजाज को देखकर ही ट्वीट किया है, बाकी आप मतलब निकालने के लिए स्वतंत्र हैं।

गर्ग के ट्वीट को मंत्री भजनलाल जाटव और कई कांग्रेस नेताओं ने लाइक किया

सुभाष गर्ग के पायलट खेमे पर कटाक्ष वाले ट्वीट को भरतपुर जिले के वैर से विधायक और गृह रक्षा राज्य मंत्री भजनलाज जाटव सहित कांग्रेस के कई नेताओं और विधायकों ने लाइक किया है। जाटव पहले पायलट खेमे में ही थे लेकिन बाद में पाला बदल लिया। भजनलाल जाटव को किसी कमेटी में नहीं लेने पर पायलट समर्थक वेद प्रकाश सोलंकी ने सवाल भी उठाए थे।

कई यूजर्स ने किए चुभते कमेंट्स
गर्ग के ट्वीट पर कई यूजर्स ने चुभते कमेंट्स भी किए हैं। राजस्थानी मोट्यार नाम के हैंडल ने लिखा- क्या बात है आपकी तो मौज हो रखी है, आपकी पार्टी की तो एक ही सीट है और शुरू से मंत्री पद के मजे लिए जा रहे हो। आपने तो अपना घोसला फिक्स कर रखा है और जिनके पास कुछ नहीं है वो फड़फड़ा रहे है। आप तो मस्त रहो। एक बेरोजगार ने लिखा- मिजाज आपकी सरकार के कुछ मंत्रियों का भी मौसम की तरह बदलते हैं। गोपाल गुप्ता नाम के यूजर ने लिखा- सही ऐसे है-ये मौसम ही कुछ ऐसा है, मजबूर हैं परिंदे घोंसले बदलने को! अखिलेश वशिष्ठ ने लिखा- जहां कार्यकर्ताओं का सम्मान नही होता वहा से हट जाना चाहिए। नारायण लाल माली ने लिखा- जोरदार निशाना। राजेश नाम के यूजर ने कमेंट किया- क्या ये परिंदा भी घोंसला बदलेगा?
पायलट कैंप के विधायक ने गहलोत सरकार को घेरा:वेद प्रकाश सोलंकी बोले- गहलोत सरकार में SC-ST, माइनॉरिटी की पूरी भागीदारी नहीं, जहां इनके वोट नहीं, वहां से कांग्रेस चुनाव लड़कर देख ले

खबरें और भी हैं…



Source link