Panipat News In Hindi : Students did e-learning, Panipat got first place, education department conducted survey, children are showing interest in online studies in Coronakal | विद्यार्थियों ने की ई-लर्निंग, पानीपत को मिला पहला स्थान, शिक्षा विभाग ने कराया सर्वे, कोरोनाकाल में ऑनलाइन पढ़ाई में बच्चे दिखा रहे हैं दिलचस्पी


  • शिक्षा विभाग ने टीवी पर प्रसारण के साथ-साथ वाॅट्सएप ग्रुप बनाकर विद्यार्थियों तक पाठ्यसामग्री, वीडियो और ऑडियो अध्यापकों के माध्यम से पहुंचवाना शुरू कर दिया

newsjojo

Jun 19, 2020, 10:42 AM IST

पानीपत. कोविड-19 संक्रमण के कारण केंद्र सरकार ने सभी शिक्षण संस्थान बंद करवा दिए थे। ऐसे में सरकारी स्कूलों ने निजी स्कूलों की तर्ज पर ऑनलाइन पढ़ाई कराना शुरू कर दिया। शुरू में बच्चाें ने इसमें दिलचस्पी नहीं दिखाई। इसके चलते शिक्षा विभाग ने टीवी पर प्रसारण के साथ-साथ वाॅट्सएप ग्रुप बनाकर विद्यार्थियों तक पाठ्यसामग्री, वीडियो और ऑडियो अध्यापकों के माध्यम से पहुंचवाना शुरू कर दिया। परिणाम स्वरूप बच्चों ने ई-लर्निंग में रूचि दिखाना शुरू कर दिया। परिणाम स्वरूप पानीपत ने ई-लर्निंग में प्रदेश में पहला स्थान प्राप्त कर लिया है।

इसको लेकर हरियाणा सरकार ने पिछले दिनों सर्वे कराया था। इसके आंकड़े बुधवार को जारी किए। इन आंकड़ों के अनुसार पानीपत ने 99 अंक प्राप्त कर प्रथम स्थान पर कब्जा कर लिया है। शिक्षा निदेशालय के निर्देशानुसार लॉकडाउन में स्कूलों के बंद रहने के कारण विद्यार्थियों की शिक्षा जारी रखने के लिए ऑनलाइन पढ़ाई करवाई जा रही है। इसके लिए अध्यापकों से लेकर जिला शिक्षा अधिकारी तक की जिम्मेदारी निर्धारित कर दी है।

इस क्रम में शिक्षा विभाग ने टीवी पर एजुसेट कार्यक्रम दिखाना शुरू कर दिया था। शिक्षकों ने वाॅट्सएसप पर ग्रुप बना लिए। बच्चों के साथ-साथ अभिभावकों को इससे जोड़ लिया था। वाॅट्सएप पर ही विद्यार्थियों तक पाठ्यसामग्री, वीडियो और बनाकर भेजना शुरू कर दिया था। शिक्षकों ने अभिभावकों से संपर्क कर बच्चों की पढ़ाई पर ध्यान देने के लिए प्रेरित करना शुरू कर दिया है।

दाखिले की प्रक्रिया भी शुरू की
मुख्य शिक्षक जयदीप ने बताया कि लॉकडाउन के कारण विभाग द्वारा मिड-डे मील बच्चों के घर तक पहुंचाने की जिम्मेदारी शिक्षकों को दे दी। इसके बीच दाखिले की प्रक्रिया भी शुरू कर दी। विभाग द्वारा पीटीएम की जिम्मेदारी शिक्षकों को सौंप दी। ऐसे में शिक्षकों ने सभी कामों को जिम्मेदारी से पूरा करते हुए बच्चों की ई-लर्निंग पर असर नहीं पड़ने दिया। ई-लर्निंग को जारी रखा। 

कोर्स पूरा करवाने का प्रयास :  डीईईओ
रमेश, जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी ने कहा कि ई-लर्निंग को लेकर अभिभावकों व बच्चों को जागरूक किया जा रहा है। अभी स्कूल बंद हैं। ऐसे में घर पर ही ई-लर्निंग के माध्यम से बच्चों को कोर्स पूरा करवाने का भरसक प्रयास किया जा रहा है। ताकि उनकी पढ़ाई पर कोई असर न पड़े।



Source link