Vaccination started after 4 days in Ludhiana, stopped again, 26 thousand doses ended in a single day | 26 हजार डोज एक ही दिन में खत्म हुई, सूबे में पहले नंबर पर चल रहे जिले में अभी 50% लोग ही लगवा पाए हैं टीका


  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Vaccination Started After 4 Days In Ludhiana, Stopped Again, 26 Thousand Doses Ended In A Single Day

लुधियानाएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

कोरोना वैक्सीनेशन की सिंबॉलिक इमेज।

लुधियाना में कोरोना से लड़ने के लिए केंद्र सरकार द्वारा मुहैया करवाई गई वैक्सीन की 26 हजार डोज एक दिन में ही खत्म हो गई। ऐसे में चार दिन बाद चलाए गए केंद्रों पर गुरुवार को फिर से वैक्सीनेशन नहीं होगी। हालांकि प्रदेश में पहले स्थान पर खड़े इस जिले में अभी आधे लोगों को ही टीके लगे हैं। साथ ही अभी 18 साल से कम उम्र वालों के लिए वैक्सीन के आने का इंतजार किया जा रहा है।

अभी तक शहर में 18 साल से ज्यादा की 26.06 लाख की आबादी में से 14 लाख के करीब लाभार्थियों को ही वैक्सीन लग सकी है। सरकार द्वारा भेजी गई 26 हजार वैक्सीन की डोज समाप्त हो चुकी है। आज 117 सेंटर बनाए गए थे और इस पर एक ही दिन में वैक्सीन समाप्त हो गई। इससे पहले भी 16 जुलाई को लगे कैंपों में 23 हजार लोगों को ही वैक्सीन लग सकी थी।

बुधवार को भेजी गई यानि अब एक दिन जितनी डोज ही पहुंच रही है। लोगों की पहल के आधार पर वैक्सीनेशन करवाई जा रही है, लेकिन डोज की कमी के चलते लोगों को लंबा इंतजार करना पड़ रहा है। बुधवार को जिले में 4 दिन बाद वैक्सीनेशन होगी। इसके लिए जिले को 20 हजार की डोज मिलने की संभावना है, जो देर रात आएगी। बुधवार के लिए 177 सेशन साइटें बनाई गई हैं। सरकार की ओर से भेजी गई वैक्सीन आज दोपहर तक ही चल सकी। ईद की सरकारी छुट्ट्टी होने के बावजूद आज वैक्सीनेशन सेंटरों पर वैक्सीन लगाई गई थी।

फेसबुक लाइव में बोले डीसी अभी ऐहतियात रखें लोग

हर बुधवार की तरह आज बाद दोपहर भी डिप्टी कमिश्नर जिला प्रशासन के फेसबुक पेज पर लाइव हुए और कहा कि अभी वैक्सीन लग रही है और लोगों को अपना एहतियात रखना होगा। उन्होंने कहा कि कोरोना के मरीजों में कमी आई है मगर इसका मतलब यह नहीं कि लोग बिना सोशल डिस्टेंस के खुलेआम बिना किसी सावधानी के घूमते रहें। उनका कहना था कि केंद्र सरकार की तरफ से जितनी भी वैक्सीन मुहैया करवाई जा रही है उसे पहल के आधार पर लगाया जा रहा है, क्योंकि इसी से आने वाले समय में बचाव होना है।

खबरें और भी हैं…



Source link