Villagers of Bijaipur do padyatra for five years till the hungry mother temple situated on the hill, it rains on the same day they do padyatra | बिजयपुर ग्रामवासी पांच सालों से करते हैं पहाड़ी पर स्थित भूखी माता मंदिर तक पदयात्रा, जिस दिन करते हैं पदयात्रा उसी दिन होती है बारिश


चित्तौड़गढ़25 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

भूखी माता मंदिर तक ग्राम वासियों ने की पदयात्रा।

जिले के समीपवर्ती गांवों में वैसे तो अच्छी बरसात को लेकर अलग अलग उपाय करते हैं। ऐसे में बिजयपुर वासियों द्वारा लगातार पांच सालों से पदयात्रा निकाली जा रही है। ग्रामवासी हर साल ढोल नगाड़ों के साथ गांव की पहाड़ी स्थित भूखी माता मंदिर तक पदयात्रा करते हैं। खास बात यह है कि यह जिस दिन भी पदयात्रा करते हुए पहाड़ी की चढ़ाई करते हैं, उसी दिन अच्छी बरसात भी होती है।

रविवार को बिजयपुर सरपंच श्याम लाल शर्मा सहित ग्रामवासियों ने भूखी माता मंदिर तक कि चढ़ाई चढ़ी। सुबह 10 बजे ढोल नगाड़ों के साथ वीर तेजाजी मंदिर से गांव के सभी मंदिरों पर पूजा अर्चना कर प्रमुख रास्तों से होती हुई पदयात्रा भूखी माता मंदिर पर जयकारा लगाते हुए पहुंची। इस पदयात्रा में बिजयपुर गांव छोटे, बड़े, बुजुर्ग, महिला, बच्चे सभी शामिल थे। पहाड़ी पर स्थित भूखी माता मंदिर पर सभी श्रद्धालु मातारानी की आरती में शामिल हुए और मातारानी को भोग भी लगाया गया। इस अवसर पर पदयात्रा के बाद महाप्रसादी का भी आयोजन हुआ।

पिछले 5 सालों से लगातार हो रही है पदयात्रा

ग्राम वासियों का कहना है कि ग्राम पंचायत बिजयपुर में पिछले 5 सालों से लगातार क्षेत्र में अच्छी बरसात की कामना को लेकर इस पदयात्रा का आयोजन हो रहा है। जिसमें सभी ग्रामवासी व श्रद्धालु शामिल होते हैं और साथ ही महाप्रसादी के आयोजन में भी भाग लेते हैं। ग्राम वासियों ने यह भी बताया कि जब भी पदयात्रा का आयोजन होता है, उसी दिन बरसात शुरू होती है। रविवार को भी वही हुआ। पदयात्रा के साथ ही सुबह से बरसात का दौर जारी है और सभी ग्राम वासियों का भक्त जनों के चेहरे खिले हुए हैं।

पिछले 5 सालों से बरसात की अच्छी कामना के लिए करते हैं यह पदयात्रा।

पिछले 5 सालों से बरसात की अच्छी कामना के लिए करते हैं यह पदयात्रा।

पदयात्रा के दौरान होती है हर साल बारिश

बिजयपुर की पहाड़ी पर सैकड़ों साल पुराना भूखी माता का मंदिर है जहां पर बिजयपुर गांव व आसपास के श्रद्धालु दर्शन को आते हैं। नवरात्रि पर्व पर इस शक्तिपीठ पर विशेष पूजा-अर्चना होती है। सरपंच शर्मा ने बताया कि भूखी माता बिजयपुर वासियों व आसपास के गांवों के श्रद्धालुओं की बहुत आस्था है। यहां जो भी भक्त सच्ची श्रद्धा से अपनी मनोकामना लेकर आते हैं वह पूरी हो जाती है। खूबसूरत और रोमांच से भरी पहाड़ियों के बीच में माता रानी का यह का यह शक्तिपीठ भक्तजन व पर्यटकों के के लिए आकर्षण का केंद्र रहा है।

खबरें और भी हैं…



Source link